बुतपरस्ती है हज़ार गुना अच्छी शख्शियत परस्ती से,

कम से कम बुतो को बरगलाना तो नहीं आता

वो कहते है हमसे की फायदा क्या है बुतपरस्ती का

हम कहते बहुत है, क्योंकि बुतो को मानव बम बनाना नहीं आता
वो कहते है तुम्हारा खुदा नकली है और तुम हो काफिर

में कहता हु बावजूद इसके भी हमें घर जलना नहीं आता
वो कहते है की जन्नत ना होगी नसीब इस तरह तुम्हे

हम कहते है हमें इस दुनिया को है जन्नत बनाना आता !!!